वोडाफोन-आइडिया को भारी नुकसान, 41 लाख ग्राहकों ने कंपनी छोड़ा!

वोडाफोन-आइडिया को हुए भारी नुकसान का असर आदित्य बिरला समूह की अन्य कंपनियों पर पड़ने लगा है, जिनके संयुक्त मार्केट कैप में 20 अगस्त को 21,431 करोड़ रुपये की गिरावट आई। इससे कुछ दिन पहले ही कंपनी की दूरसंचार इकाई ने अपने तिमाही नतीजे 29 जुलाई को जारी किए थे।

इंडिया टीवी न्यूज़ डॉट कॉम के अनुसार, कंपनी ने 19 अगस्त को ग्राहकों की संख्या में गिरावट की जानकारी दी, जिसमें बताया गया कि 41 लाख ग्राहकों ने कंपनी छोड़ दिया है। इसके तुरंत बाद कंपनी के सीईओ बालेश शर्मा की जगह रविन्द्र ठक्कर की नियुक्ति की गई।

बीएसई पर मंगलवार के सत्र में वोडाफोन-आइडिया के शेयर में 6 फीसदी की गिरावट आई, जिसके एक दिन पहले शर्मा ने तुरंत प्रभाव से सीईओ के पद से एक साल से कम समय तक काम करने के बाद इस्तीफा दे दिया था।
बुधवार को बीएसई पर वोडाफोन-आइडिया के शेयरों में 2.57 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई।

मोबाइल फोन कंपनी के शेयरों की कीमत ऑल टाइम कम हो गई है, क्योंकि कंपनी भारी नुकसान में है और ग्राहक छोड़ कर जा रहे हैं और राजस्व आधार कम होता जा रहा है।

विश्लेषकों का अनुमान है कि प्रतिद्वंद्वी कंपनी जियो अगले 4-5 महीनों में ग्राहकों की संख्या के मामले में वोडाफोन-आइडिया को पीछे छोड़ देगी, जो कि एयरटेल को पहले ही पीछे छोड़ चुकी है।

जून में दूरसंचार कंपनी का मार्केट कैप करीब 40,000 करोड़ रुपये था। अप्रैल-जून 2019 तिमाही में वोडाफोन-आइडिया ने 4,873.9 करोड़ रुपये का नुकसान दर्ज किया था, जोकि पिछली 11 तिमाहियों में 10 तिमाहियों में नुकसान में रही थी।

आदित्य बिरला समूह की सभी कंपनियों का कुल मार्केट कैप 29 जुलाई को 2.69 लाख करोड़ रुपये था, जो घटकर 20 अगस्त को 2.31 लाख करोड़ रुपये हो गया है।

TheLogicalNews

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by TheLogicalNews. Publisher: The Siaset Daily Hindi