उद्धव के शपथ ग्रहण में जाएंगे सोनिया, मनमोहन, ममता, फिर उलटफेर की तैयारी में अजित पवार!

मुंबई/नई दिल्‍ली: उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण के लिए शिवाजी पार्क में चल रही तैयारियों के बीच बुधवार को कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच मंत्रिपदों के बंटवारे जमकर माथापच्‍ची हुई. रात को मल्ल्किार्जुन खड़गे का बयान आया कि सभी मुद्दों पर सहमति बन गई है और कल यानी गुरुवार को ऐलान किया जाएगा.

शरद पवार ने कहा- सहमति बन गई है: मीटिंग खत्‍म होने के बाद जब बुधवार रात शरद पवार बाहर निकले तो टीवी9भारतवर्ष के सवाल पर उन्होंने कहा कि सहमति बन गई.

प्रफुल्ल पटेल से जब मंत्रिमंडल के बारे में सवाल पूछा गया तो उन्‍होंने कहा कि कितने मंत्री शपथ लेंगे, आज (बुधवार) रात तय होगा.
कौन कौन से मंत्री शपथ लेंगे, ये भी आज (बुधवार) देर रात तय होगा.

उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण को लेकर भी दिनभर जोरदार हलचल रही. खबर है कि उद्धव ठाकरे के शपथ ग्रहण में मध्‍य प्रदेश के मुख्‍यमंत्री कमलनाथ, पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी शामिल होंगे. दिल्‍ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को भी शपथ ग्रहण में बुलाया गया,
लेकिन निजी व्‍यस्‍तताओं के चलते वह शपथ ग्रहण समारोह में शामिल नहीं हो पाएंगे.

उद्धव ठाकरे के बेटे आदित्‍य ठाकरे बुधवार रात को सोनिया गांधी से मिलने दिल्‍ली पहुंचे और उन्‍हें शपथ ग्रहण का न्‍योता दिया.

आदित्‍य ठाकरे ने पूर्व पीएम और कांग्रेस के दिग्‍गज नेता मनमोहन सिंह को शपथ ग्रहण में आने का न्‍योता दिया.

शपथ ग्रहण में शामिल होने वाले इन मेहमानों की लिस्‍ट में गौर करने वाली बात यह होगी कि उद्धव ठाकरे एनडीए के नेताओं- नीतीश कुमार, रामविलास पासवान को बुलाते हैं या नहीं? और अगर वह बुलाते हैं तो ये नेता शपथ ग्रहण में जाएंगे या नहीं?

उद्धव ठाकरे ने विधायक दल का नेता चुने जाने के बाद कहा था कि दिल्‍ली जाकर बड़े भाई से भी मिलूंगा. उनका इशारा पीएम नरेंद्र मोदी की तरफ था, अब यह भी देखना होगा कि क्‍या उद्धव ठाकरे पीएम मोदी, अमित शाह, नितिन गडकरी या अन्‍य किसी बीजेपी नेता को शपथ ग्रहण में बुलाते हैं या नहीं?

मंत्रिपदों को लेकर दिनभर रही हलचल

कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के बीच बुधवार को चली मैराथन बैठक के दौरान डिप्‍टी सीएम पद, स्‍पीकर और मंत्रियों के विभागों को लेकर लंबी चर्चा हुई.

पहले खबर आई कि स्‍पीकर का पद कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता पृथ्‍वीराज चव्‍हाण को दिया जा सकता है, जबकि डिप्‍टी सीएम पद केवल एनसीपी के जयंत पाटिल को दिया जाएगा. जयंत पाटिल इस समय एनसीपी के विधायक दल के नेता भी हैं. जयंत पाटिल को शरद पवार ने उस वक्‍त विधायक दल का नेता बना दिया था, जब अजित पवार ने अचानक बीजेपी को समर्थन देकर देवेंद्र फडणवीस को मुख्‍यमंत्री बनवा दिया था.

बाद में अजित पवार वापस एनसीपी में लौट आए. बुधवार को जब मंत्रिमंडल पर चर्चा शुरू हुई, तब शुरुआती दौर में सूत्रों के हवाले से खबर आई कि अजित पवार मंत्रिमंडल से बाहर रह सकते हैं, लेकिन शाम होते-होते अजित पवार एक और उलटफेर करते दिखाई दिए. अब उनके डिप्‍टी सीएम बनने की चर्चा सामने आने लगी. अब यह भी दावा किया जा रहा है कि अजित पवार को दोबारा विधायक दल का नेता बनाया जा सकता है, साथ उन्‍हें डिप्‍टी सीएम पद भी दिया जा सकता है. मतलब वही अजित पवार जो मंगलवार को उद्धव ठाकरे के चुने वाली बैठक में शामिल तक नहीं थे, अब पूरे मंत्रिमंडल के चयन में अहम भूमिका निभा रहे हैं.

मंत्रिमंडल में अजित पवार की अहम भूमिका

मंत्रिमंडल तय करने के लिए बुधवार को जो मीटिंग चली, अजित पवार उसकी धुरी बने. उद्धव ठाकरे और अहमद पटेल समेत कांग्रेस और शिवसेना के सब नेताओं के जाने के बाद आखिर में अजित पवार मीटिंग से बाहर निकले. सवाल पूछते ही उन्‍होंने मुंह घुमा लिया और अपनी कार की ओर बढ़ गए। सूत्रों के मुताबिक, शिवसेना और कांग्रेस के नेताओं के जाने के बाद अजित पवार और शरद पवार के बीच अलग से बातचीत होगी.

इन मंत्रालयों पर हुई माथापच्‍ची

कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना के बीच वित्त, गृह, शहरी विकास और राजस्व मंत्रालय के बंटवारे पर जमकर माथापच्‍ची हुई.

बुधवार को एक लिस्‍ट भी मीडिया में सामने आई, जिसमें मंत्री बनने वाले कांग्रेस, एनसीपी और शिवसेना के नेताओं के नाम हैं.

बाला साहब थोराटदिलीप वलसे पाटिलसुभाष देसाई
नाना पटोलेजयंत पाटीलएकनाथ शिंदे
अशोक चव्हाणनवाब मलिकरामदास कदम
विजय वेदेट्टीवारछगन भुजबलदिवाकर रावते
यशोमती ठाकुरराजेश टोपेअब्दुल सत्तार
अमित देशमुखअनिल देशमुखप्रताप सरनाईक
विश्वजीत कदमजितेंद्र आव्हाडअनिल परब
हसन मुश्रीफसुनील प्रभु
रविंद्र वायकर

शिवाजी पार्क में करना होगा ध्‍वनि प्रदूषण के नियमों का पालन

शासन ने जारी किया शिवाजी पार्क में शपथ ग्रहण की अनुमति का पत्र. खास बात- ध्वनि प्रदूषण के नियमों का पालन करना होगा.
साथ ही उच्च न्यायालय के निर्देशों का भी पालन करना होगा.

सवा 10 बजे खत्‍म हुई कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना की बैठक

वाईबी चह्वाण सेंटर में बुधवार रात सवा 10 बजे कांग्रेस, एनसीपी, शिवसेना की बैठक खत्‍म हुई. उद्धव ठाकरे के साथ एनसीपी नेता जयंत पाटिल और अजीत पवार, शिवसेना नेता एकनाथ शिंदे और कांग्रेस की ओर से बालासाहेब थोराट शपथ ले सकते हैं.

बुधवार को हुई बैठक में महाराष्‍ट्र विधानपरिषद की खाली होने वाली सीटों को लेकर भी बातचीत हुई. 3 दिसंबर को बहुमत साबित करने के बाद लिया जाएगा अंतिम निर्णय.

TheLogicalNews

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by TheLogicalNews. Publisher: TV9 Bharatvarsh

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *