झारखंड विधानसभा चुनाव का पहला चरण : 9 बजे तक 11 फीसदी मतदान

झारखंड विधानसभा चुनाव के पहले चरण का मतदान शुरू हो गया है. इस दौर में 13 सीटों पर वोट डाले जा रहे हैं. पहले चरण में करीब 38 लाख मतदाता 189 उम्मीदवारों के भाग्य का फैसला करेंगे. इस चरण के मतदाताओं में पांच तीसरे लिंग वाले मतदाता है.

इस दौरान राज्य के कुछ नक्सल प्रभावित इलाकों में भी मतदान होगा.इन सीटों पर सुबह नौ बजे तक 11.02 फीसदी मतदाताओं ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया था.

लोहरदगा के एक मतदान केंद्र पर मतदान के लिए लाइन में खड़े मतदाता.

यह चुनाव बीजेपी और विपक्ष दोनों के लिए महत्वपूर्ण है. एक तरफ जहां बीजेपी सत्ता में बने रहने के लिए पूरा जोर लगा रही है, वहीं विपक्ष रघुबर दास की सरकार को पटखनी देने के लिए कमर कसे हुए है.

पहले चरण के प्रमुख उम्मीदवारों में राज्य के स्वास्थ्य मंत्री रामचंद्र चंद्रवंशी, कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष रामेश्वर उरांव और पूर्व मंत्री तथा भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) उम्मीदवार भानु प्रताप शाही हैं.

पहले चरण में 189 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं. इनमें 174 पुरुष और 15 महिला उम्मीदवार हैं.

झारखंड के मुख्य चुनाव अधिकारी विनय कुमार चौबे ने कहा कि मतदान के लिए 4892 मतदान केंद्र बनाए गए हैं. इनमें से 1262 मतदान केंद्रों से मतदान का बेवकास्ट किया जा रहा है.

मतदान सुबह 7 बजे से लेकर दोपहर तीन बजे तक किया जाएगा. राज्य के एडीजी मुरारी लाल मीणा ने आज जिन मतदान केंद्रों पर मतदान हो रहा है, उनमें से 1097 नक्सल प्रभावित हैं. इनमें 461 को अतिसंवेदनशील की श्रेणी में रखा गया है.

पहले चरण में जिन 13 सीटों पर मतदान हो रहा है उनके नाम हैं- चतरा, बिशुनपुर, लातेहार, गुमला, लोहरदगा, पांकी, मनिका, विश्रामपुर, हुसैनाबाद, डालटनगंज, छतरपुर, भवनाथपुर, गढ़वा.

इस चरण में सबसे ज्यादा 28 उम्मीदवार भवनाथपुर सीट से अपनी किस्मत आजमा रहे हैं. सबसे कम नौ प्रत्याशी चतरा सीट पर हैं.

भानु प्रताप शाही

मुख्य निर्वाचन अधिकारी विनय कुमार चौबे के मुताबिक गुमला (एससी) सीट से 12, बिशुनपुर (एसटी) सीट से 12, लोहरदगा (एसटी) सीट से 11, मनिका (एसटी) सीट से 10, लातेहार (एससी) सीट से लिए 11, पांकी सीट से 15, डाल्टेनगंज सीट से 15, विश्रामपुर सीट से 19, छतरपुर (एससी) सीट से 12, हुसैनाबाद सीट से 19 और गढ़वा सीट से 16 उम्मीदवार अपनी किस्मत आजमा रहे हैं.

दलबदुलओं का बोलबाला

पहले चरण में दलबदलुओं का बोलबाला है. लोहरदगा एक ऐसी सीट है, जहां से कांग्रेस के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष सुखदेव भगत बीजेपी के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं. कांग्रेस ने उनके खिलाफ पूर्व आईपीएस रामेश्वर ओरांव को उतारा है.

वहीं भवनाथपुर में 2014 में भानुप्रताप शाही ने निर्दलीय चुनाव लड़कर बीजेपी के अनंत प्रताप देव को हराया था. शाही अब उसी सीट से बीजेपी के टिकट पर चुनाव मैदान में हैं. वहीं अनंत प्रताप देव निर्दलीय चुनाव मैदान में हैं.

शाही मधु कोड़ा की सरकार में स्वास्थ्य मंत्री रहे थे. उनपर आय से अधिक संपत्ति और दवा घोटाले के मामले चल रहे हैं. इस सिलसिले में वो जेल भी जा चुके हैं.

हुसैनाबाद के विधायक शिवपूजन मेहता बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) छोड़कर इस बार झारखंड स्टूडेंट यूनियन (एजेएसयू) के साथ हैं.

झारखंड मुक्ति मोर्चा (जेएमएम) के आलोक चौरसिया डॉल्टेनगंज से इस बार बीजेपी के प्रत्याशी हैं. चौरसिया 2014 में जेएमएम से जीते थे. वहीं छतरपुर में सिटिंग एमएलए राधाकृष्ण किशोर को बीजेपी ने टिकट नहीं दिया तो वह एजेएसयू के टिकट पर चुनाव लड़ रहे हैं.

चुनाव आयोग ने एक नवंबर को झारखंड विधानसभा चुनाव के तारीखों का ऐलान किया था. राज्य में पांच चरणों में विधानसभा चुनाव के लिए मतदान होना है.

पलामू के एक मतदान केंद्र पर मतदान के लिए खड़े मतदाता.

झारखंड में चुनाव का कार्यक्रम

दूसरे चरण का मतदान 7 दिसंबर को, 12 दिसंबर को तीसरे, 16 दिसंबर को चौथे और 20 दिसंबर को पांचवें चरण का मतदान होगा.

चुनाव आयोग के मुताबिक सभी 81 सीटों पर मतगणना का काम 23 दिसंबर को होगा.
झारखंड विधानसभा का कार्यकाल 5 जनवरी को खत्म हो रहा है. झारखंड के 19 जिले और 67 सीटें नक्सल प्रभावित हैं.

TheLogicalNews

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by TheLogicalNews. Publisher: Asia Ville Hindi

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *