उद्योगों के विकास के लिये रूपरेखा तैयार करें: मिश्र

जयपुर। राजस्थान के राज्यपाल कलराज मिश्र ने कहा है कि बदली परिस्थितियों में इंजीनियरिंग (इंजीनियरिंग) संकाय के छात्रों में तकनीकी दक्षता बढ़ाने के लिए कार्यशाला, संगोष्ठी और व्याख्यान ऑनलाइन आयोजित किए जाने हैं। उन्होंने कहा कि इससे राज्य में तकनीकी दक्षता विकसित होगी। नवाचार होंगे। इसका लाभ राज्य को मिलेगा। मिश्रा ने कहा कि इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स को बदलती परिस्थितियों पर शोध करना होगा। समय की जरूरतों को ध्यान में रखते हुए, भविष्य के लिए उद्योग के धन के विकास के लिए एक रूपरेखा तैयार करें और आत्मनिर्भर भारत के लिए राज्य के तकनीकी विश्वविद्यालयों के साथ समझौता ज्ञापन (सहमति समझौते) करें।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मिश्रा मंगलवार को वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिए द इंस्टीट्यूशन ऑफ इंजीनियर्स द्वारा आयोजित 53 वें इंजीनियर दिवस समारोह को संबोधित कर रहे थे। राज्यपाल ने कहा कि कोरोना वायरस के वैश्विक महामारी ने जीवन के हर चरण में स्थितियों को बदल दिया है।

ऐसे में देश के इंजीनियर की बहुत बड़ी जिम्मेदारी है। उन्होंने कहा कि इंजीनियरों को आत्मनिर्भर भारत के लिए प्रयास करना चाहिए। लोगों के मन में और समाज में आत्मनिर्भर भारत के लिए एक वातावरण तैयार करें ताकि स्थानीय स्तर पर युवा स्वरोजगार के लिए छोटे उद्योग शुरू कर सकें।

TheLogicalNews

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by TheLogicalNews. Publisher: UPUKLive

(Visited 1 times, 1 visits today)
The Logical News

FREE
VIEW
canlı bahis