PM मोदी ने दिया फिटनेस का मंत्र: फिटनेस की डोज-आधा घंटा रोज

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फिट इंडिया मूवमेंट की पहली वर्षगांठ के मौके पर एक ऑनलाइन फिट इंडिया डायलॉग के दौरान फिट इंडिया एज एप्रोप्रियेट फिटनेस प्रोटोकॉल लॉन्च किया। इस दौरान पीएम मोदी ने देशभर के फिटनेस विशेषज्ञों और प्रभावशाली व्यक्तियों के साथ बातचीत की। पीएम मोदी ने इस दौरान भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली, पैरालंपिक स्वर्ण पदक विजेता देवेंद्र झाझरिया, जम्मू कश्मीर की महिला फुटबॉलर अफशां आशिक, अभिनेता मिलिंद सोमण और पोषण विशेषज्ञ रूजुता दिवेकर सहित कई प्रमुख हस्तियों संग चर्चा की।
फिट इंडिया मूवमेंट की पहली वर्षगांठ के मौके पर प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन में कहा कि लोगों को शारीरिक फिटनेस के साथ-साथ मानसिक फिटनेस का भी ख्याल रखना होगा।
उन्होंने कहा कि आज की चर्चा से हर क्षेत्र के लोगों को प्रेरणा मिलेगी। आज मैं सभी देशवासियों के अच्छे स्वास्थ्य की कामना करता हूं। फिटनेस को लेकर लोगों की मानसिकता में बदलाव आया है और योग जीवन का हिस्सा बन रहा है। प्रधानमंत्री ने कहा कि मुझे खुशी है कि स्वस्थ भोजन हमारे जीने के तरीके का हिस्सा बन रहा है। फिट होना उतना मुश्किल नहीं है जितना कि लोग सोचते हैं। इसके लिए बस थोड़ा सा अनुशासन चाहिए। उन्होंने कहा, हमें फिट रहने के लिए एक दूसरे को प्रेरित करने की जरूरत है। जो परिवार साथ खेलते हैं, वे हमेशा साथ रहते हैं। पीएम ने लोगों फिटनेस की डोज आधा घंटा रोज’ के रूप में फिटनेस का मंत्र भी दिया। पीएम मोदी ने स्वस्थ जीवनशैली के अपने विचार के बारे में बात की और एक स्वस्थ दिनचर्या के गुणों को लेकर चर्चा की।
आपका नाम और काम दोनों ही विराट: मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली संग चर्चा की। विराट से चर्चा के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि आपका तो नाम भी विराट है और काम भी। विराट ने बताया कि वर्तमान समय में खिलाडिय़ों से बेहतर करने की उम्मीद की जाती है और इस कारण खेल की मांग बढ़ गई है। हमारा सिस्टम खेल के लिए सही नहीं था और इस कारण मुझे काफी बदलाव करने पड़े। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान ने बताया कि जब तक आपको खुद न लगे की फिटनेस कितनी जरूरी है तब तक आप बदलाव नहीं करते हैं। लेकिन आपको एक बार इस बात का एहसास हो जाता है तो परिवर्तन देखने को मिलता है। विराट ने बताया कि आज प्रैक्सिट नहीं करने पर उतना दुख नहीं होता, जितना फिटनेस की अनदेखी करने पर होता है। प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि आपकी फिटनेस की वजह से दिल्ली के छोले भटूरे को नुकसान हुआ होगा।
पीएम मोदी ने साझा की अपनी स्पेशल रेसिपी
प्रधानमंत्री मोदी ने पोषण विशेषज्ञ रूजुता दिवेकर संग फिट इंडिया मुहिम पर चर्चा की। पीएम मोदी ने इस दौरान बताया कि वह कोरोना संकट में हर हफ्ते अपनी मां से बात करते हैं। प्रधानमंत्री ने बताया कि उनकी मां हमेशा यह पूछती हैं कि क्या वह स्वस्थ खाना लेते हैं या नहीं। इस पर रूजुता ने बताया कि हम जो सामान्य खाना खाते हैं, उसका सेवन करके भी हम फिट रह सकते हैं, क्योंकि उसमें सभी जरूरी पोषक तत्व होते हैं। वहीं, पीएम मोदी ने चर्चा के दौरान बताया कि मेरी भी एक रेसिपी है। उन्होंने बताया कि वह फिट रहने के लिए मोरिंगा के पराठे बनाकर खाते हैं। पीएम ने बताया कि वह सप्ताह में एक या दो बार इसको खाते हैं।
पीएम ने आलोचना पर कही ये बात
मिलिंद ने पीएम मोदी से कहा कि मैं आपसे एक सवाल पूछना चाहूंगा। हम कुछ भी करते हैं तो उसके लिए लोग हमारी काफी आलोचना करते हैं। इस सवाल के जवाब में पीएम ने कहा कि हमारे यहां कहा जाता है कि निदंक नियरे राखिए यानी किसी कार्य को अगर खुद के लिए नहीं, बल्कि दूसरे के लिए किया जा रहा है तो तनाव पैदा नहीं होता है। प्रधानमंत्री ने कहा कि आप केवल काम पर ध्यान दें, दूसरों के बारे में न सोचें, तो सब ठीक रहता है।
मिलिंद सोमण से पीएम मोदी की चर्चा
पीएम मोदी ने अभिनेता और मॉडल मिलिंद सोमण से चर्चा की और उन्होंने ‘मेड इन इंडिया मिलिंदÓ पर उनसे बात की। पीएम मोदी ने मिलिंद से उनकी उम्र और उनकी दौड़ को लेकर पूछा। पीएम ने कहा कि आपकी उम्र को लेकर लोग चर्चा करते हैं, आपकी असल उम्र क्या है। इस सवाल के जवाब में मिलिंद से पीएम से कहा कि मेरी मां 81 साल की हैं, और वह सभी कार्यों को ठीक प्रकार से कर लेती हैं। ऐसे में मैं उनसे प्रेरणा लेता हूं और वह सभी के लिए प्रेरणा का एक स्रोत हैं। मेरा लक्ष्य है कि मैं उनकी उम्र तक बिल्कुल फिट रहूं। पीएम मोदी ने बताया कि मिलिंद की माताजी के पुशअप का वीडियो मैंने पांच बार देखा क्योंकि वो 81 साल की उम्र में इतनी फिट हैं। मिलिंद ने बताया कि वो महिलाओं के लिए अलग से इवेंट का आयोजन करते हैं और लोगों को फिट रहने का मंत्र देते हैं।
कश्मीर की महिला फुटबॉलर से पीएम मोदी की चर्चा
जम्मू कश्मीर की महिला फुटबॉलर अफशां आशिक ने बताया कि उनके फुटबॉलर बनने के फैसले का समर्थन उनके घरवालों ने किया, जिसके बाद वह मुंबई में प्रैक्टिस के लिए गईं। पीएम मोदी ने कहा कि भविष्य में दुनिया बेकहम नहीं बल्कि अफशां की बात करेगी। पीएम मोदी ने कहा कि आपसे देश की लड़कियां खासा प्रभावित होंगी। अफशां ने बताया कि वह क्रिकेटर महेंद्र सिंह धोनी की प्रशंसक हैं और वह उनसे सीखने की कोशिश करती हैं। पीएम मोदी ने अफशां से पूछा कि कश्मीर के बच्चे खेल में क्यों सबसे आगे होते हैं जिसपर अफशां ने बताया कि वहां के मौसम और हरियाली के कारण कश्मीर के लोगों का स्टैमिना काफी अच्छा होता है, जिस कारण खेल में बहुत फायदा मिलता है।

TheLogicalNews

Disclaimer: This story is auto-aggregated by a computer program and has not been created or edited by TheLogicalNews. Publisher: UPUKLive

(Visited 1 times, 1 visits today)
The Logical News

FREE
VIEW
canlı bahis